तुम किसी का कुछ मत बिगाड़ना, तुम्हारा कुछ न बिगड़ेगा कभी

तुम किसी का कुछ मत बिगाड़ना, तुम्हारा कुछ न बिगड़ेगा कभी

  अगर तुम मेरे पे विश्वास रखोगे तो तुम्हारा कभी अहित न होगा मेरा ये वचन याद रखना, चाहे बदल जाये मेरा शारीरिक चोगा याद रखो मुझी में दिखेंगे शंकर, इसी में दिखेगा भोला चलो मेरे संग, मैं जब भी जाता हूँ भिक्षा लेने लेके झोला तुम किसी का कुछ मत बिगाड़ना, तुम्हारा कोई न […]